फिलीपींस की कैटरिओना बनी मिस यूनिवर्स, भारत की नेहा टॉप 20 से ही हुईं बाहर

Miss Universe 2018 Winner

Miss Universe 2018 Winner : मिस वर्ल्ड के बाद साल के अंत में दुनिया को नई मिस यूनिवर्स भी मिल गई

Miss Universe 2018 Winner : मिस वर्ल्ड के बाद साल के अंत में दुनिया को नई मिस यूनिवर्स भी मिल गई, फिलीपींस की कैटरिओना इलिसा ने इस साल का यह खिताब अपने नाम किया.

बैंकॉक में आयोजित इस कॉन्टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका की टैमरिन ग्रीन फर्स्ट रनर-अप और वेनेजुएला की स्थेफनी गुटरेज सेकंड रनर अप रहीं.
रेड कलर के हाई स्लिट गाउन पहनी कैटरिना को मिस यूनिवर्स 2017 डेमी ले नेल-पीटर्स ने ताज पहनाया. 
पढ़ें – जानिए किस सवाल ने वेनेसा को बनाया मिस वर्ल्ड 2018, असल जिंदगी में कैसी हैं वो
इस सवाल का जबाव दे बनीं मिस यूनिवर्स 2018
फिलीपींस की कैटरिओना इलिसा ग्रेस यूनिवर्स 2018 से आखिरी सवाल पूछा गया कि ”अपने लाइफ में आपने सबसे महत्वपूर्ण चीज क्या सीखी और एक मिस यूनिवर्स के रूप में किस तरह से उसे अपनी जीवन में लागू किया?
इस पर ग्रे ने जवाब दिया कि ‘‘मैंने मनीला के बस्तियों में बहुत काम किया है और वहां का जीवन काफी गरीबी और दुख से भरा हुआ है.
उन्होंने कहा कि मैने यहां खुद से सीखा कि कैसे इसमें खूबसूरती देखी जा सकती है. यहां पर मैंने बच्चों के चेहरों पर खुशियां व सुंदरता भी देखी है और एक मिस यूनिवर्स के तौर पर मैंने हर बुरी परिस्थिति में अच्छाई देखी है, जहां मैं कुछ न कुछ अपनी भागीदारी दे सकती हूं.”
भारत की नेहा हुई टॉप 20 से बाहर
मिस यूनिवर्स में भारत का 18 साल का इंतजार खत्म नहीं हो सका. देश का प्रतिनिधित्व कर रहीं 22 साल की नेहल टॉप-20 में भी जगह नहीं बना सकीं.
ज्ञात हो भारत की ओर से आखिरी बार 2000 में लारा दत्ता ने मिस यूनिवर्स खिताब जीता था और उनसे पहले 1994 में सुष्मिता सेन मिस यूनिवर्स बनी थीं.
ऐंजेला पॉन्स

पढ़ें – महिलाओं की जीन्स की जेब पुरुषों की जेब से छोटी क्यों? यहाँ जानिए जवाब

पहली बार ट्रांसजेंडर बनी प्रतियोगी

मिस यूनिवर्स कॉन्टेस्ट में पहली बार स्पेन का नेतृत्व कर रही ट्रांसजेंडर कैंडिडेट ने हिस्सा लिया था. स्पेन की ऐंजेला पॉन्स प्रतियोगिता में शिरकत करने वाली पहली ट्रांसजेंडर थी.
हालांकि वे टॉप 20 में जगह नहीं बना पाईं लेकिन जब वे स्टेज पर आईं तो वहां मौजूद लोगों ने उन्हें जमकर चियर अप किया.
अपनी इस सफलता पर एंजेला ने कहा कि – ‘एक महिला होने के लिए मुझे योनी (वेजाइना) की आवश्यक्ता नहीं है,मुझे मालूम है कि मेरा जन्म महिला रूप में हुआ है और ये ही मेरी पहचान है”.