19 सालों में पाकिस्तान की जनसंख्या 57 फीसद बढ़कर हुई 20.78 करोड़

demo pic
demo pic
पाकिस्तान में हाल के दिनों में हुई जनगणना के अस्थाई आकड़ों को जारी कर दिया गया है. इन आकड़ों के मुताबिक पाकिस्तान की जनसंख्या 20.78 करोड़ हो गई है. जो की वर्ष 1998 में हुई जनगणना के मुकाबले 57 फीसदी अधिक है.
काउन्सिल ऑफ कॉमन इंटरेस्ट सीसीआई को सौपें गए अस्थायी आंकड़ों के अनुसार पाकिस्तान में 10 .645 करोड़ पुरुष, 10.131 करोड़ महिलाएं और 10 ,418 हजार ट्रांसजेंडर हैं.
गौरतलब है कि 1998 में हुई पांचवी जनगणना के नतीजों से तुलना करने पर पता चलता है कि पाकिस्तान की आबादी में 2.4 फीसदी की वार्षिक दर से 19 सालों में 57 फीसदी की वृद्धि हुई है.
पाकिस्तान की संस्था ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स पीबीएस ने इस साल की शुरूआत में पाकिस्तान में तकरीबन दो दशकों के अंतराल के बाद छठी जनगणना कराई थी.
जिसमें खैबर पख्तूनख्वा, बलूचिस्तान और संघ प्रशासित कबायली क्षेत्र के फाटा में जनसंख्या वृद्धि दर में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. जबकि पंजाब और सिंध में पिछले नतीजों के मुकाबले जनसंख्या वृद्धि दर में गिरावट आई है.
पाकिस्तान के मशहूर ‘डॉन’ समाचार पत्र की खबर के अनुसार खैबर पख्तूनख्वा में 3.05 करोड़, फाटा में 50 लाख, सिंध में 4.79 करोड़, बलूचिस्तान में 1.23 करोड़, इस्लामाबाद में 20 लाख लोग अपना जीवनयापन कर रहे हैं. जबकि आबादी के हिसाब से सबसे बड़े प्रांत पंजाब में 11 करोड़ लोग रहते हैं.
वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने देश की जनगणना समय से पूरी करने को लेकर कानून प्रवर्तन एजेंसियों की सराहना की है.
उन्होंने पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स स्टाफ और मिनिस्ट्री ऑफ स्टैटिस्टिक्स से अंतिम आंकड़े जल्द जारी करने की अपील की है. ताकि उसी अनुसार देश की आर्थिक एवं सामाजिक योजना बनाई जा सके.
भाषा के इनपुट से