रूस और यूक्रेन के बीच एक बार फिर बढ़ा विवाद, जानें क्या है वजह और ताजा अपडेट

Russia Ukraine Conflict Latest Updates
PC - Bbc Hindi

Russia Ukraine Conflict Latest Updates : यूक्रेन की सासंद में हुआ हल्ला और लग गया मार्शल लॉ, रूस ने भी तैनात किए मिसाइल और टैंकर

Russia Ukraine Conflict Latest Updates : “रूस के विशेष बलों ने बंदूक से लैस दो नावों को खींचने वाले जहाज का पीछा किया और उसे अपने कब्जे में ले लिया है” ये बयान यूक्रेन की ओर से रूस के खिलाफ आया है जिसके बाद दुनियाभर में हलचल तेज हो गई है.

अब सवाल यह है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि रूस जैसे शक्तिशाली देश को यूक्रेन के जहाज जब्त करने पड़े  ?
दरअसल मामला समुद्री सीमा के विवाद का है, 2003 की संधि के अनुसार रूस और यूक्रेन के बीच कर्च स्ट्रेट जलमार्ग और अज़ोव सागर के बीच जल सीमाएं बंटी हुईं हैं.
पढ़ें – क्या है “ब्रेक्सिट” की कहानी और क्यों ब्रिटेन सरकार इसकी वजह से है खतरे में ?
पहले रूस ने की यूक्रेन के जहाजों की निगरानी और … 
यह निगरानी उस वक़्त से शुरू हुई जब क्रीमिया से आई एक नाव को यूक्रेन ने जब्त किया था, रूस का कहना है कि सुरक्षा के लिहाज से निगरानी ज़रूरी है और ऐसे में यूक्रेन और रूस में टकराव गहरा गया है
रूस का कहना है कि यूक्रेन के कुछ नाव गलत तरीके से आजोव सागर में आ गए थे जो कि उसके सीमा के अंदर हैं

यूक्रेन की सासंद में हुआ हल्ला और लग गया मार्शल लॉ
क्योंकि मामला रूस से टकराव का है तो यूक्रेन ने सचेत होना बेहतर समझा है, ऐसे में यूक्रेन में मार्शल लॉ लगा दी गयी है जिसका मतलब है कि कुछ इलाकों में अब सेना का राज़ है , यह ज्यादस्तार वही इलाके हैं जहां रूस हमला कर सकता है.
जानिए कैसे शुरू हुआ विवाद 
दरअसल,रूस और क्रीमिया के बीच एक संकरा जल मार्ग है जिसमें से यूक्रेन के जहाज निकलकर मेरिपोल शहर जा रहे थे, बीच में ही रूस ने उन्हें रोककर कब्ज़े में ले लिया.
इसके बाद आजोव ब्रिज के नीचे मेक्सिको की तरफ से एक टैंकर,S-400 मिसाइल भी तैनात कर दी गई और साथ ही कुछ प्लेन हर समय निगरानी कर रहे हैं.
अपडेट्स के मुताबिक रूस ने यूक्रेन के तीन जहाज़ों के साथ जिन 24 नौसैनिकों को पकड़ा था, वो अब दो महीने तक हिरासत में रहेंगे. हालांकी रूस ने ये साफ कह दिया है कि इन नौसैनिकों के साथ युद्धबंदियो जैसा सलूक नहीं किया जाएगा.
पढ़ेंअब चीन का मुसलमान करने लगा है असुरक्षित महसूस, क्या है इस डर की वजह ?
क्या कहा पुतिन ने ? 
रूस के राष्ट्रपति पुतिन के अनुसार यूक्रेन के राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको यह सब 2019 के चुनाव की वजह से कर रहे हैं, वो इससे अपनी रेटिंग बढ़ाना चाहते हैं.
नाटो और यूरोपियन संघ ने भी जारी किया बयान  
संघ ने कहा है कि रूस कर्च के रास्ते में रुकावट ना पैदा करे, उम्मीद करते हैं कि रूस जल्द रूकावट और तनाव खत्म होगा

Russia Ukraine Conflict Latest Updates

रूस और यूक्रेन ने बीच पहले से है तनाव
दरअसल 2014 में रूस ने यूक्रेन के क्रीमिया को अपनी हुकूमत में ले लिया, इसके बाद रूस के समर्थक अलगावादियों और यूक्रेन सेना के बीच युद्ध चल रहा है .
ज्ञात हो अभी तक इसमें 10000 लोगों की मौत हो गयी है, अब अगर युद्ध हुआ तो यूक्रेन को भारी नुकसान हो सकता है. इस बात की पुष्टी खुद यूक्रेन के राष्ट्रपति ने करी है
फिलहाल, रूस से टकराने की हिम्मत अभी कम ही देशों में है और ऐसे में यूक्रेन को काफी सोच समझकर कोई फैसला लेना होगा.